Home Blog

गुर्जर समाज के वीर शहीदों को श्रद्धांजलि देने नही आया गुर्जर समाज का कोई बड़ा नेता

साथियों राम राम
सबसे पहले समाज की उन्नति एवं बेहतर भविष्य के लिए कुर्बानी देने वाले 73 योद्धाओं को अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि मुझे क्या पूरे समाज के लिए बड़े दुख का विषय है जब श्रद्धांजलि देने वाले लोगों को पत्थरों पर मालाए और फूल अर्पित करते हुए देखता हूं तो मन बड़ा विचलित हो जाता है साथियों ऐसा पहली बार नहीं हो रहा हर मई के महीने में गुर्जर समाज के शहीदों के साथ व उनके परिवारों के साथ अन्याय सा महसूस होता है। मैंने बहुत अच्छे से महसूस किया है गुर्जर आरक्षण आंदोलन की आड में बहुत सारे लोगों को मैंने उस हालत में देखा है जो आज और उनके अतीत में बहुत फैसला पैदा करती है

आंदोलन के समय पर आप एक छोटा सा क्लीनिक चलाते थे जो आज एक बहुत बड़े हॉस्पिटल का मालिक बनकर बैठा है और कई लोग जो मोटरसाइकिल का चालान पेश करते थे आज वह बहुत बड़े एडवोकेट बनकर बैठे हुए हैं और कई लोग जो सरपंच तक नहीं बनते गुर्जर आरक्षण आंदोलन की आड़ में पार्टियों के तलवे चाटते हुए एमपी एमएलए बन गए कई लोग गांव में झाडे भभूत करते थे वह लोग आज तरह-तरह के साफा और कुर्ते बदलते नजर आ रहे हैं और आज आप सब लोग समाज और इन शहीदों को भूल गए जिस समाज की एकता की मिसाल और कुर्बानियों का इतिहास इन्हीं के पीछे याद किया जाता है
किसी ने गाड़ी किसी ने बंगला,किसी ने कॉलेज, स्कूल ,बड़ी बड़ी गाड़ियां और ऊंचा नाम कमा लिया लेकिन इन शहीदों को आज भी इन्ही पत्थरों पर पुष्प अर्पित करने पड़ रहे हैं।।
यहाँ भी कुछ बदलाव जरूरी है साहब तब होगी सच्ची श्रद्धांजलि।।
कड़वी जरूर है मगर है सच हैं।

गुर्जर आरक्षण आंदोलन में शहीद हुए वीर गुर्जर शहीदो के नाम एवं पता

गुर्जर आरक्षण आंदोलन में शहीद हुए वीर गुर्जर शहीदो के नाम एवं पता

जिला दौसा
————————————
1. रामवीर गुर्जर पुत्र श्री शिवचरण गुर्जर निवासी पीपलखेड़ा, महुवा, जिला दौसा
2. श्री रामनिवास गुर्जर पुत्र श्री अर्जुनलाल निवासी पीपलखेड़ा, महुवा जिला दौसा
3. सुमेर सिंह गुर्जर पुत्र श्री रामसिंह गुर्जर निवासी भापुर, मंडावर, दौसा।
4. श्री रामस्वरूप गुर्जर पुत्र श्री रामनाथ गुर्जर निवासी टोरडा, नांगल राजावतान, दौसा
5. श्री दयाराम गुर्जर पुत्र श्री गोविंद राम गुर्जर निवासी बीलका, नांगल राजावतान, दौसा
6. श्री रामचरण पुत्र श्री नाथूलाल गुर्जर निवासी डिगो, लालसोट, दौसा
7. श्री हरफूल गुर्जर पुत्र श्री नानगराम गुर्जर निवासी डिगो, लालसोट, दौसा
8. श्री उदयभान गुर्जर पुत्र श्री प्यार सिंह निवासी पाखर, महुवा, दौसा
9. श्री रामकिशन गुर्जर पुत्र श्री श्रीराम गुर्जर निवासी बाने का बरखेड़ा, दौसा
10. श्री रामवतार पुत्र श्री देवीसहाय गुर्जर निवासी खुरी खुर्द, दौसा
11. श्री राधेश्याम गुर्जर पुत्र श्री भीकासिंह निवासी पावटा भायली पट्टी, महुवा दौसा
12. श्री हीरासिंह गुर्जर पुत्र श्री मुंशी गुर्जर निवासी जिन्द पट्टी पावटा, दौसा
13. श्री मानसिंह गुर्जर पुत्र श्री श्री बृजलाल उर्फ बिरजा निवासी भोपर सायपुर, महुआ , दौसा
14. श्री कानजी गुर्जर पुत्र श्री कंचन गुर्जर निवासी शेखपुरा, मानपुर, दौसा
15. श्री जयनारायण गुर्जर पुत्र श्री रामनिवास निवासी राणी का बास, बांदीकुई, दौसा
16. श्री हनुमान गुर्जर पुत्र श्री रामकिशन निवासी मरियाडा, मानपुर , दौसा ।
17. श्री हरिराम गुर्जर पुत्र श्री रामरतन निवासी दुब्बी, सिकंदरा दौसा
18. श्री पप्पूलाल/रूप सिंह गुर्जर पुत्र श्री रामकिशोर निवासी दुब्बी, सिकराय, दौसा
19. श्री बने सिंह पुत्र श्री गोवर्धन निवासी अगलाई/भगलाई, भांडारेज , दौसा
20. श्री बत्तूलाल गुर्जर श्री बिरदीचंद निवासी टोरडा, सिकंदरा, दौसा
21. श्रीनाथू गुर्जर पुत्र श्री आनंदीलाल निवासी सुमेलखुर्द, कोरड़ा, दौसा
22. श्रीहरिमोहन गुर्जर पुत्र श्री भालचंद निवासी सांगला बांसड़ा, बांदीकुई, दौसा
*23. श्री नाथूलाल गुर्जर पुत्र श्री रामदेव निवासी साहूपाड़ा, पोस्ट खूंटला, बांदीकुई/बसवा, दौसा*
24. श्री बलबीर गुर्जर पुत्र श्री प्रभुदयाल निवासी गिरधरपुरा, सिकंदरा/सिकराय, दौसा
25. श्री रामकरण गुर्जर पुत्र श्री हीरालाल निवासी झीझण, तहसील-सिकराय, दौसा
*26. श्री धर्मसिंह गुर्जर पुत्र श्री उमराव निवासी बुर्जा ढाणी सिकंदरा, तह. सिकराय, दौसा*
27. श्री सुरेश गुर्जर पुत्र राधेश्याम/राधाकिशन, निवासी टोरडा, तहसील-सिकराय, दौसा
28. श्री गोकुलराम गुर्जर पुत्र श्री नानगराम पटेल निवासी बन्द की ढाणी, सिकंदरा, दौसा
29. श्री सुमेर गुर्जर पुत्र श्री गंगासहाय निवासी बिन्दरपाड़ा, तह.-सिकराय, जिला दौसा
30. सुरेश गुर्जर पुत्र श्री रामेश्वर गुर्जर निवासी खूंटला, तहसील बसवा/सिकराय दौसा।
31. श्री रामसिंह गुर्जर पुत्र श्री कान्हालाल निवासी बुडली, तहसील- सिकराय, जिला- दौसा।
32. श्री राजाराम गुर्जर पुत्र श्री हरसहाय निवासी सिकंदरा, दौसा
33. श्री कैलाश गुर्जर पुत्र श्री चंदन गुर्जर निवासी पाटोली, महुवा, दौसा
34. श्री राजेन्द्र/ राजेश गुर्जर पुत्र श्री दुब्बी सिकराय दौसा
35. श्री बद्री गुर्जर पुत्र श्री छाजूलाल गुर्जर निवासी टोरडा लालसोट दौसा
36. श्री रमेश चंद्र पुत्र श्री रामप्रताप गुर्जर निवासी गावड़ी मड़ियारा, सिकराय दौसा
37.श्री मानसिंह गुर्जर पुत्र श्री हीरालाल निवासी बस्सी का वास, बसवा बांदीकुई दौसा

जिला सवाईमाधोपुर

1. श्री हरकेश गुर्जर पुत्र श्री हीरालाल निवासी सीतोड़ की बड़ी झोपडी, बामनवास, सवाईमाधोपुर
2. श्री मुरारीलाल गुर्जर पुत्र श्री राजाराम निवासी डडवाडी, बौली, सवाई माधोपुर
3. श्री पुखराज गुर्जर पुत्र श्री बंशीलाल निवासी राठोद/रेवासा, बौली, सवाईमाधोपुर
4. श्री राधेश्याम गुर्जर पुत्र श्री मोती गुर्जर निवासी दुमोदा, तह./जिला- सवाईमाधोपुर
5. श्री कन्हैया लाल गुर्जर पुत्र श्री रामनिवास निवासी छाण, खण्डार, सवाईमाधोपुर
6. श्री भरतसिंह गुर्जर पुत्र श्री सरदार सिंह निवासी रेन्डायल, गंगापुरसिटी, सवाईमाधोपुर
7. श्री दयाराम गुर्जर पुत्र श्री गोपीलाल, निवासी रेवासा, बोंली, सवाईमाधोपुर
8. श्री मौजीराम गुर्जर पुत्र श्री भँवर लाल निवासी रेवासा, बोंली, सवाईमाधोपुर

जिला बूंदी

1. श्री महादेव गुर्जर पुत्र श्री कल्याण निवासी नीम का खेड़ा, हिंडौली, बूंदी
2. श्री सीताराम गुर्जर पुत्र श्री ग्यारसीलाल निवासी अमरपुरा, हिंडोली, बूंदी
3. श्री रामदेव गुर्जर पुत्र नंदा गुर्जर निवासी रुणिजा, हिंडोली, बूंदी
4. श्री घासीलाल गुर्जर पुत्र श्री बिहारीलाल गुर्जर निवासी सालवालिया/सलावलंया, हिंडोली, बूंदी
5. श्री बलराम गुर्जर पुत्र श्री बाबूलाल निवासी फुलेटा/फुलेता, नैनवां, बूंदी
6. श्री हरिओम गुर्जर पुत्र श्री जगन्नाथ गुर्जर निवासी रामहताई, हिंडोली, बूंदी
7. श्री गोकुल पुत्र श्री नारायण गुर्जर निवासी रणीजा/रुणिजा, हिंडौली, बूंदी

जिला करौली

1. भीकम गुर्जर पुत्र श्री प्रेमसिंह निवासी मूंडिया छावड़ी पट्टी, टोडाभीम, करौली
2. श्री गंगासहाय गुर्जर पुत्र श्री खुफ़ेदी गुर्जर निवासी देवलेन, टोडाभीम, करौली
3. श्री प्यारेलाल गुर्जर पुत्र श्री…. निवासी पैंचला, टोडाभीम, करौली
4. श्री बच्चन गुर्जर पुत्र श्री गूजरमल निवासी मोडान का पुरा, टोडाभीम, करौली
5. श्री बाबूसिंह गुर्जर पुत्र श्री श्योसिंह निवासी सलेपुरा मूंडिया, टोडाभीम, करौली
6. श्री झूत्याराम गुर्जर श्री नादानसिंह निवासी सलेपुरा मूंडिया, टोडाभीम, करौली
7. श्री समय सिंह गुर्जर पुत्र श्री हुकुम सिंह निवासी डूंगरपुरा पोस्ट मोरडा टोडाभीम, करौली

जिला भरतपुर

1. श्री दामोदर पुत्र श्री जवान सिंह निवासी दर्र बरहाना/ देवराणा, गढ़ी बाजना, बयाना,भरतपुर
2. श्री लक्ष्मण गुर्जर पुत्र श्री भगवान सिंह गुर्जर निवासी गंगा रापाड़ा, बयाना, भरतपुर
3. श्री नादान गुर्जर श्री रामहेत निवासी अड्डा, बयाना,भरतपुर
4. श्री डूंगर सिंह बैसला पुत्र श्री गिरधर निवासी कनावर, बयाना, भरतपुर
5. श्री जगन गुर्जर पुत्र श्री फूल्या निवासी कनावर, बयाना, भरतपुर
6. श्री फतेह सिंह गुर्जर पुत्र श्री हरेती राम गुर्जर निवासी बंसिया का नंगला, बयाना, भरतपुर
7. श्री सोहन सिंह गुर्जर पुत्र श्री कदमताल निवासी चौधरिया का नंगला, बयाना, भरतपुर
8. श्री विश्राम सिंह गुर्जर पुत्र श्री देवीसिंह निवासी सूपा, बयाना, भरतपुर
9. श्री बलबीर गुर्जर पुत्र श्री सीताराम निवासी चीख़रु, बयाना, भरतपुर
10. श्री बच्चूसिंह गुर्जर पुत्र श्री करण सिंह निवासी नंगला पातरी गढ़ी, बाजना, भरतपुर

जिला अलवर

1. श्री नंदराम गुर्जर पुत्र श्री हरदान गुर्जर निवासी नांवा की नांगल/ नांगललाखा, बानसूर, अलवर

*राज्य-हरियाणा, जिला- पानीपत*
1. पप्पूराम/करण सिंह छोकर, निवासी कल्याण पट्टी, समालखा, पानीपत, हरियाणा
2. कुलदीप कुमार छोकर, निवासी कल्याण पट्टी, समालखा, पानीपत, हरियाणा

जिला सवाईमाधोपुर से 08
जिला करौली से 07
जिला बूंदी से 07
जिला अलवर से 01
जिला भरतपुर से 10
जिला दौसा से 37
हरियाणा से 02

*गुर्जर शहीद 72*

Ajeet Bainsla 

गुर्जर परिचय सीरीज 6 आईएएस श्री श्यामलाल गुर्जर

गुर्जर परिचय सीरीज (6 )
आईएएस श्री श्यामलाल गुर्जर,

यह नाम संघर्ष, मेहनत और कामयाबी की मिसाल है,बुलंद हौसलों के दम पर ऊंची उड़ान भरने वाले
श्री श्याम लाल गुर्जर का जन्म सवाई माधोपुर जिले के गंगापुर सिटी तहसील के एक छोटे से गांव गावड़ी कला में पटेल श्री मीठालाल गुर्जर व माताजी श्री मति कल्याणी देवी के यहां 07/12/1961 को हुआ
श्री श्याम लाल गुर्जर चार भाई और एक बहन है चारो भाई उच्च अधिकारी हैं
बड़े भाई श्री रामकिशोर जी जो जेडीए में स्पेक्टर थे रेवेन्यू के जो इसी साल रिटायर हुए जो जयपुर में रहते है
दूसरे नम्बर के श्री मान जी है
तीसरे नंबर पर डॉ श्री दामोदर जी गुर्जर पूर्व डीवाईएसपी राजस्थान पुलिस जिन्होंने शिप्रा पथ थाना जयपुर को विश्व का एक नंबर थाना बनाय आज गुर्जरसमाज के बड़े भामाशाह है
देव ग्रुप ऑफ कॉलेज के नाम से के 22 कॉलेज जयपुर और सांगानेर में स्वयं के 5 भवनों में चलते है। देव ग्रुप का देव विश्वविद्यालय एवं देव मेडिकल कॉलेज 2020 -21 में शुरू हो जाएंगे।
चौथे भाई श्री रामलाल जी गुर्जर है जो आर ए एस के अपने बैच के राजस्थान के टॉपर है और 20-21तक वह भी आईएएस बन जाएंगे।
श्रीमान जी की प्रारंभिक शिक्षा गंगापुर सिटी में हुई तथा B.COM कोटा से की श्री मान जी का सफर इस प्रकार हैं
22.2018 में #राजसमंदजिलाकलेक्टर लगे
23.2019 में MD JCTCL लगे
24. वर्तमान पोस्टिंग #निदेशकमत्स्यविभाग राजस्थान है
1.अतिरिक्त निदेशक, चिकित्सा और स्वास्थ्य विभाग, जयपुर (22-05-2015 )
2. अपर। कमिशनर और ADDL। राज्य परियोजना निदेशक, राजशतन मधिअमकि शशिशाह, जयापुर (2014/04/12)
3. अपर। निर्देशक, आरएमएसए, जयपुर (13-11-2014) (2014/03/12)
4. ADVISOR (PERS।), RIICO, JAIPUR (25-02-2014) (13-11-2014)
5. सरकार, डिपार्टमेंट, जयपुर के डिप्टी सचिव (17-10-2011) (24-02-2014)

7. डीवाई सरकार, उद्योग विभाग, राजस्थान, जयपुर के सचिव (13-08-2008) (2011/03/10)
8. अतिरिक्त निदेशक, राजकीय स्वास्थ्य प्रणाली विकास परियोजना, जयपुर (2007/02/05) (14-08-2008)
9. अधिकारी, विभागीय पूछताछ, जयपुर। (23-07-2005) (2007/01/05)
10. अपर। COLLECTOR (DEV।) और EX-OFFICIO PROJECT DIRECTOR, DRDA AND CEO, ZP, BHARATPUR (19-01-2002) (20-07-2005)
11. CHIEF EXECUTIVE OFFICER (NATHDWARA MANDIR MANDAL), नाथद्वारा (राजसमंद) (17-04-1999) (15-01-2002)
12. अपर। कॉलेज और ADDL। जिला पत्रिका, राजसमंद (28-10-1997) (1999/03/05)
13. अपर। COLLECTOR – I, CHITTORGARH (24-07-1995) (27-10-1997)
14. अपर। कॉलेज और ADM, DHOLPUR (22-10-1994) (20-07-1995)
15. SUB-DIVISIONAL अधिकारी, खेतेरी (झुंझुनू) (28-08-1993) (21-10-1994)
16. कमिश्नरी, मुनिपाल नगर, कोटा (28-09-1992) (27-08-1993)
17. SUB-DIVISIONAL ऑफिसर, (LC) गंगनहर (26-02-1992) (24-09-1992)
18. SUB-DIVISIONAL अधिकारी, DEEG (BHARATPUR) (29-06-1991) (22-02-1992)
19. सहायक। कमिशनर, RELIEF डिपार्टमेंट, जयपुर (16-01-1991) (28-06-1991)
20. VIKAS ADHIKARI, PS JAMWA RAMGARH (जयपुर) (1990/07/05) (15-01-1991)
21. UNDER प्रशिक्षण HCM RIPA, जयपुर में DISTT शामिल है। ACEM, कोटा के रूप में प्रशिक्षण काल
श्री श्याम लाल गुर्जर ने पंचायत समिति विकास अधिकारी से लेकर आईएएस तक का सफर किया उनके इस कार्यकाल में बहुत कठिनाई भी आई लेकिन सभी कठिनाइयों से उन्होंने डटकर मुकाबला किया यह युवाओं के प्रेरणा स्रोत है
समाज के युवाओं को इनसे प्रेरणा लेनी चाहिए
राजस्थान में यह बिधूड़ी परिवार वह परिवार है जिसने 35 -40 साल पूर्व शिक्षा में जागृति लाकर समाज को एक नई दिशा दी थी, ऐसे परिवार के मुखिया श्री मीठा लाल जी की सोच की गांव से निकालकर अपने बच्चों को बड़े-बड़े शहरों में उस समय विपरीत परिस्थितियों में पढ़ाया और सभी बच्चों को योग्य बनाए ,समाज के अन्य गणमान्य पंच पटेलों को प्रेरणा लेनी चाहिए की गंगापुर सिटी जैसे पिछड़े क्षेत्र से एक किसान अपने बच्चों को अच्छी से अच्छी शिक्षा दिलाकर उस समय की विपरीत परिस्थितियों का सामना करके भी बच्चों में अनुशासन और समर्पण लाए जिसकी वजह से राजस्थान के प्रशासनिक क्षेत्र में 40 साल पूर्व से जब कोई नहीं प्रशासन में और पुलिस में नहीं होता था ,हमारे समाज का नाम प्रशासनिक लिस्टों में आने लगा था।

पूर्व मंत्री हेमसिंह भडाना एवं पूर्व विधायक मानसिंह गुर्जर ने मालपुरा बाछेड़ा के पीड़ित परिवार से की मुलाकात

11 मई को पूर्व मंत्री हेमसिंह भडाना एवं पूर्व विधायक मानसिंह गुर्जर ने मालपुरा बाछेड़ा ग्राम में पहुँचकर गैंगरेप पीड़िता नाबालिग बालिका के परिवार से मुलाकात कर प्रकरण की जानकारी बच्ची के पिता और भाई से घटनाक्रम की जानकारी ली पिता-भाई ने जिस प्रकार से घटना का वर्णन किया उससे यह प्रतीत हुआ कि यह घटना समाज के लिए बहुत शर्म की बात है ऐसी घटना की जितनी निंदा की जाए वह कम है उससे भी बड़ी बात यह है कि सरकार के स्तर पर इस दर्दनाक घटना को दबाने का काम हुआ एफ. आई. आर के बाद में आरोपीयो को छोड़ दिया गया और पुलिस अधिकारी एवं महिला डॉक्टर ने जिस प्रकार से पीड़ित परिवार को दबाने की कोशिश की थी उन पर भी कार्यवाही होनी चाहिए, इसके साथ 164 के बयानो में देरी होना ही ,सरकार की मंशा ठीक नही है,दोनों नेताओं ने राजस्थान सरकार से मांग है कि सभी मुल्जिम गिरफ्तार कर 376 D पॉक्सो एक्ट में चालान पेश कर फास्ट ट्रैक कोर्ट मे मुकदमा चले जिससे दोषियों को जल्द से जल्द फांसी सजा मिले।

उन्होंने कहा कि एक बर्ष पर्व में घटित घटना अलवर के थानागाजी में जिस प्रकार पीड़ित एक बच्ची को न्याय देने के लिए जो सरकारी नौकरी और 50 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी गई थी।उसी प्रकार इस पीड़ित बच्ची को सरकारी नौकरी एवं मुआवज़ा  दिया जाये।
गुर्जर एवं भड़ाना ने कहा कि जिस प्रकार अलवर के थानागाजी मे कॉग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष ,मुख्यमंत्री एवं प्रदेशाध्यक्ष का पहुँच आर्थिक सहायता का दिया जाना ओर इस घटना को लेकर सरकार अभी तक संवेदनहीन है। सरकार के मुख्यमंत्री एवं प्रदेशाध्यक्ष घटना स्थल दौरा कर पीड़िता को सरकारी नौकरी एवं मुआवजा दे, अन्यथा राजस्थान का सम्पूर्ण समाज लड़ाई लेड़गा।

आईपीएस श्री सर्वेश पवार गुर्जर गुर्जर परिचय सीरीज (5)

गुर्जर परिचय सीरीज (5 )

गुर्जर परिचय सीरीज में आज हम बात करेंगे उत्तराखंड के सर्वेश गुर्जर की जो हमारी समाज का चमकता हुआ सितारा है 

आईपीएस श्रीसर्वेश पवार गुर्जर यह नाम संघर्ष, मेहनत और कामयाबी की मिसाल है। बुलंद हौसलों के दम पर ऊंची उड़ान भरने वाले सर्वेश पवार उत्तराखंड के गाव करनपुर पोस्ट डबकीकलां तहसील लक्सर जिला हरिद्वार
में श्री सतीशपाल सिंह अध्यापक और श्रीमति सुबलेश देवी के घर में 08/01/1994 को पैदा हुये
सर्वेश पवार गुर्जर ,बचपन से ही होनहार रहे सर्वेश जी स्कूल समय से ही टॉपर रहे है ये 10 वी और 12 वी के अपने स्कूल के टॉपर रहे है और ग्रेजुएशन IIT bHU se chemical engineering 2016 में पास कर 2018 मे UPSC की तैयारी कर सेकण्ड चांस में 460 रैंक हासिल कर IPS सलेक्ट हुए श्रीमान जी को उत्तराखंड कैडर अलॉट हुआ
और तीसरी बार 2019 में UPSC का इंटरव्यू 2020 मार्च को दिया है जिसका रीजेल्ट आना बाकी है
अभी हैदराबाद में आईपीएस की ट्रेनिंग चल रही हैं

गुर्जर समाज को सर्वेश गुर्जर जैसे समाज के सपूतो पर गर्व है जो  रात दिन देश की सेवा कर रहे है और समाज का नाम रोशन कर रहे है समाज के युवाओं का इन से प्रेरणा लेनी चाहिए

 

हमारी वेबसाइट पर हम आपको रोज समाज के नए नए सपूतो से मिलवाते रहेंगे आप रोज सुबह हमारे साथ जुड़े रहिये 

अगर आपके आस पास  कोई ऐसी प्रतिभा है जो समाज का नाम रोशन कर रही है उसको आप हमे बताये हम उसको दुनिया के सामने प्रदर्शित करेंगे और दुनिया को दिखायेगे की गुर्जर समाज में भी प्रतिभाओ की कमी नहीं है 

Ajeet Bainsla (8696761606)

टोंक मालपुरा गैंगरेप की घटना को लेकर कर्नल बैंसला ने दिया प्रशासन को 7 दिन का समय

टोंक की मालपुरा तहसील के गांव बाछेड़ा में मंगलवार को शौच के लिए गयी गुर्जर समाज की 15 वर्षीय बालिका के साथ मिलकर चार जनो ने मिलकर  दुष्कर्म किया ,इस कोरोना वायरस के चलते  देश पहले ही बहुत बड़े संकट में है और गैंगरेप  जैसी घटनाये देश को और समाज को झकझोर कर रख देती है,   

 6 मई को बाछेड़ा में हुई घटना को लेकर गुर्जर समाज में बहुत रोष है और प्रशासन ने अभी तक अपराधियों के खिलाफ कोई Action नहीं लिया है गुर्जर समाज के सबसे बड़े नेता कर्नल किरोड़ी बैंसला ने सोशल मीडिया पर वीडियो डाल कर दोषियों को सजा दिलाने की मांग की है ,बैसला ने कहा, पुलिस पर हमको भरोसा है लेकिन अभी तक पुलिस इस मामले को लेकर चुप है ,जिम्मेदार आदमी बाछेड़ा गांव जाते है और कहते है 1 लाख रूपये ले लो और समझौता कर लो ,मेरी बहन बेटियों की कीमत आपने पैसो में लगा दी

कोरोना वायरस के चलते हम सब घरो में है और सरकार के नियम कानूनों का पालन कर रहे है ,लेकिन अब पानी हमारे सिर के ऊपर से जा चूका है ,अब ऐसी घटनाओ को समाज बिल्कुल बर्दास्त नहीं करेगा  बैंसला ने प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा ,अगर आपने एक हफ्ते में इन अपराधियों के खिलाफ क़ानूनी कार्यवाही नहीं की, और समाज की बेटी को न्याय नहीं दिलवाया तो समाज सड़को पर उतर  जायेगा और कानून व्यवस्था बिगड़ जाएगी 

इससे पहले अशोक चांदना भी बाछेड़ा गांव पहुचकर पीड़िता के परिवारजनों से मिलकर उनको भरोसा दिलाया कि सरकार आपके साथ है, इस प्रकरण के सभी दोषियों को गिरफ्तार किया जा चुका है और उनके ख़िलाफ़ सख्त से सख्त करवाई करेंगे

और आज टोंक सवाईमाधोपुर सांसद सुखवीर सिंह जौनापुरिया भी पीड़ित परिवार से मिले दोषियों के खिलाफ प्रशासन से   क़ानूनी कार्यवाही की मांग की है पीड़िता के परिवारजनों से मिलकर उनको भरोसा दिलाया की पूरा समाज आपके साथ है हमारी बेटी को जरूर न्याय मिलेगा 

 

            Ajeet Bainsla 8696761606 

आईएएस श्री जोगेंद्र सिंह गुर्जर गुर्जर परिचय सीरीज 4

गुर्जर परिचय सीरीज 4
आईएएस श्री जोगेंद्र सिंह गुर्जर यह नाम संघर्ष, मेहनत और कामयाबी की मिसाल है। बुलंद हौसलों के दम पर ऊंची उड़ान भरने और सफलता की सीढ़ी दर सीढ़ी चढ़ने वाले आईएएस जोगेन्द्र सिंह का जन्म 17/04/1989 को उतर प्रदेश के जिला मथुरा के बसई निवासी  विजय सिंह प्रधान जी के घर में हुआ जोगेन्द्र सिंह जी के पिता पेशे से किसान हैं,सिविल सर्विसेज परीक्षा में सफलता पाने से पहले जोगेन्द्र ने 2011 में नोएडा स्थित अमेटी यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन किया और 2015 में आईएएस अधिकारी बने उनकी पत्नि मेरठ के किला परीक्षितगढ़ स्थित कोरल स्प्रिंग कॉलोनी निवासी  आईपीएस अपर्णा जी इस समय कानपुर में एसपी साउथ के पद पर तैनात हैं। अर्पणा जी,ASP agra, ASP moradabad and SP(T) saharanpur bhi rahi hai
अपर्णा की गिनती तेज-तर्रार अफसरों में की जाती है

भारत की सर्वोच्च सेवा में तैनात दोनों अफसरों ने 2019 में अलीगढ़ में विशेष विवाह अधिकारी एडीएम सिटी एसबी सिंह की कोर्ट में शादी की,जोगेंद्र सिंह गुर्जर जी ने अपनी सेवाएं
1 LBSNAA में प्रशिक्षण के तहत Musoorie 2016/03/05
2 Asstt मजिस्ट्रेट / Asstt.Collector हमीरपुर 2016/04/05 29/09/2017
3 संयुक्त मजिस्ट्रेट अलीगढ़
4.वर्तमान मेंCDO kanpur dehat तैनात है
समाज को जोगिंदर सिंह गुर्जर जैसे युवाओं पर गर्व है समाज के युवाओं क़ो  इन से प्रेरणा लेनी चाहिए 

Ajeet Bainsla 8696761606 

आईपीएस श्री यशवीर सिंह गुर्जर गुर्जर परिचय सीरीज 3

आईपीएस श्री यशवीर सिंह  गुर्जर यह नाम संघर्ष, मेहनत और कामयाबी की मिसाल है,बुलंद हौसलों के दम पर ऊंची उड़ान भरने वाले  आईपीएस यशवीर सिंह गुर्जर का जन्म उतराखंड के हरिद्वार के रायसी गांव के पिताजी श्री विजयपाल सिंह जी और माताजी श्रीमति सुदेशदेवी के घर में
01/07/1985 को हुआ
उनकी शुरूआती शिक्षा रायसी गांव से ही हुई. इसके बाद ग्रेजुएशन करने के लिए वे पंतनगर चले गए यहां से उन्होंने पशु विज्ञान में स्नातक की डिग्री हासिल की जिसके बाद वे अल्मोड़ा में पशु चिकित्सा अधिकारी बने, यशवीर सिंह को पढ़ने का काफी शौक था. पशु चिकित्सा अधिकारी बनने के बाद भी उन्होने अपनी पढ़ाई जारी रखी. और 2013 में उनका IPS सिलेक्शन हुआ. आईपीएस में सिलेक्शन होने के बाद वो ट्रेनिंग के दौरान सहारनपुर में एडिशनल SP ट्रेनिंग रहे वही वह मुरादाबाद में एएसपी रहे. मुरादाबाद के बाद उनकी अगली जिम्मेदारी अलीगढ़ के पुलिस अधीक्षक देहात के रूप में हुई.

अपने इस कार्यकाल के दौरान उन्होने काफी प्रशंसनीय काम किए. अलीगढ़ के बाद सरकार ने उनको 5 अगस्त 2018 को गाजीपुर का पुलिस अधीक्षक बनाया था. गौर करने वाली बात है कि गाजीपुर अपराध और माफियाओं से भरा हुआ जिला माना जाता रहा है लेकिन जब से यशवीर सिंह ने अपने कार्यकाल में ना केवल अपराधों में कमी आई है बल्कि माफिया गिरोह भी जनपद छोड़ने को मजबूर हो गए हैं.प्रदेश सरकार ने 17 फरवरी को यशवीर सिंह का स्थान्तरण पुलिस अधीक्षक गाजीपुर से पुलिस अधीक्षक हापुड़ कर दिया. वर्तमान पोस्टिंग कमांडेड SDRF लखनऊ के
पद पर कार्यरत हैं आप हमेशा गरीबों की मदद के लिए तैयार रहते है डॉ यसवीर सिंह गुर्जर की शादी प्रियंका जी से हुई इनकी एक 3.5 साल की बेटी अंबावीर है जो स्कूल जाती है

IAS रानी नागर का इस्तीफा सरकार ने किया नामंजूर लेकिन रानी नागर इससे खुश नहीं

IAS रानी नागर  जिन्होंने  पिछले दिनों अपना इस्तीफ़ा हरियाणा सरकार को दिया था उनका इस्तीफा सरकार ने नामंज़ूर कर दिया है जिसको लेकर समाज में ख़ुशी है लेकिन रानी नागर इस बात को लेकर खुस नहीं है और उन्होंने अपनी फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट करके बताया है     

मैं रानी नागर पुत्री स्व श्री रतन सिंह नागर निवासी ग़ाज़ियाबाद गाँव बादलपुर तहसील दादरी ज़िला गौतमबुद्धनगर आप सभी से हाथ जोड़कर सादर यह विनती करती हूँ कि आप मेरा इस्तीफ़ा स्वीकार ना किए जाने के लिए आग्रह व आंदोलन ना करें,मुझे माननीय न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है,मैं अपने केस में माननीय न्यायपालिका में जाती रहूँगी,मेरे पास अभी अपनी रोटी खाने के लिए भी बहुत सीमित साधन है,मेरी आप सभी से हाथ जोड़कर विनती है कि जितनी जल्दी मेरा इस्तीफ़ा स्वीकार होगा उतनी ही जल्दी मेरा तनख़्वाह में से कटा हुआ एन पी एस फ़ण्ड मुझे प्राप्त होगा जिससे मैं अपना रोटी का ख़र्चा चला पाऊँगी,

मेरे इस्तीफ़ा स्वीकार ना होने से मेरा और अधिक शोषण होगा,आगे सरकारी नौकरी कर पाना मेरे लिए सम्भव नहीं होगा,यू टी गेस्ट हाऊस के कमरे में स्वयं खाना बनाने के लिए गैस व चूल्हा लगाया जाना मना था, मैं रूपये देकर यू टी गेस्ट हाऊस से जो खाना ख़रीदती थी मुझे उस खाने में लोहे के पिन डालकर खाना दिया जाता था,इस बारे की गयी लिखित शिकायत की प्रति संलग्न है। लाक्डाउन व कर्फ़्यू में यू टी गेस्ट हाऊस को जनता के लिए बंद कर दिया गया लेकिन मुझे और मेरी बहिन रीमा नागर को यू टी गेस्ट हाऊस में ही रखा गया,कर्फ़्यूलाक्डाउन में हमें खाना भी नहीं मिला,मैं और मेरी बहिन रीमा नागर ने कर्फ़्यू व लाक्डाउन में बड़ी मुश्किल से तरल पदार्थ आदि  से अपना गुज़ारा चलाया,यदि आप मेरा इस्तीफ़ा रोकने बारे आग्रह व आंदोलन ना करें तो आप सभी की हम पर बड़ी दया होगी

जिस तरीके  बहन ने बताया है उस से तो ये पता चलता है की बहन रीना नागर का बहुत शोषण हुआ है जो अगर इस भारत में एक इतने पद की अफसर का ही शोषण हो रहा है तो आम जनता का क्या होगा हमारा सरकार से निवेदन है की दोषियो को कड़ी से कड़ी सजा मिले चाहे वो कितना ही बड़ा अफसर क्यों ना हो 

 

IPS मुनेश गुर्जर -गुर्जर परिचय सीरीज (2)

गुर्जर परिचय सीरीज 2
 

IPS मुनेश गुर्जर यह नाम संघर्ष, मेहनत और कामयाबी की मिसाल है,बुलंद हौसलों के दम पर ऊंची उड़ान भरने और सफलता की सीढ़ी दर सीढ़ी चढ़ने वाली IPS मुनेश गुर्जर मूलरूप से उतर प्रदेश के मोदीनगर तहसील क्षेत्र के गांव दौसा बंजारपुर निवासी मुनेश गुर्जर पुत्री श्री विक्रम सिंह का जन्म साधारण से किसान परिवार में वर्ष 1984 में हुआ,मुनेश बचपन से ही होनहार रहीं, मुनेश के पिता मुरादनगर स्थित ऑर्डिनेंस फैक्ट्री से बतौर मिनराइट फीटर पद से सेवानिर्वत है,मुनेश ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा दीक्षा गांव के ही सरदार बल्लभ भाई पटेल सरकारी प्राथमिक विद्यालयमोदीनगर के गिन्नी देवी डिग्री कॉलिज से स्नातक व एमएम पीजी कॉलिज से स्नात्तकोतर (अंग्रेजी) की डिग्री हासिल की

इसके बाद आपने एमआईटी संस्थान से बीएड् किया। अपने पिता की माली हालत ठीक न होने के बाबजूद उन्होंने वर्ष 2009 में अपने गांव दौसा बंजारपुर से अकेले ही दिल्ली का रूख किया ओर वंहा एक कमरा किराये पर लेकर किसी तरह बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने से होने वाली आमदनी से जंहा मुनेश ने अपना खर्चा चलाया वही आईएएस बनने के सपने को साकार करने के लिये कड़ी मेहनत की। बिना किसी कोचिंग के सेल्फ स्टडी से मुनेश ने सर्व प्रथम वर्ष 2009 व उसके बाद लगातार चार वर्षों तक कड़ा परिश्रम किया,वर्ष 2015 में आईएएस परीक्षा में 643 वीं रैंक प्राप्त कर मुनेश गुर्जर ने वर्ष 2015 बैच में 643 वीं रैंक के आधार पर मुनेश का आईएएस में तो नही बल्कि आईपीएस में चयन हुआ है,और अभी हाल पोस्टिंग नागालैंड में सेवार्थ है,एक गरीब परिवार की लड़की अपनी मेहनत के दम पर कहा से कहा से तक जा सकती है हम सबको ऐसी प्रतिभाओ से सिख लेनी चाहिये ,और हमको हमारी बहन मुनेश गुर्जर पर गर्व है

 

Ajeet Bainsla (Admin) Gurjarnews.com 8696761606