अमेरिका ने बढ़ाई सऊदी अरब की मुसीबते -जानिए अफगानिस्तान के बाद यमानो के बीच से हटाई मिसाइल प्रणाली

0
80
America Afghanistan news

अफगानिस्तान के बाद अमेरिका ने बढ़ाई सऊदी अरब की मुसीबते यमानो के बीच  से हटाई मिसाइल प्रणाली  -जानिए आखिर क्या चाहते है अमेरिका                                                                                                                                                                                                                                                                        America Afghanistan news                                                                                                                                                                                                                                                                                                                        हम रोज अफगानिस्तान और तालिबान के बीच हो रहे आपसी सम्बन्धो की खबरे रोज पढ़ते है | लेकिन अब की बार अफगानिस्तान  पर अमेरिका ने भी मुसीबते  बढ़ा दी है | अमेरिका ने अपनी सीमा पर तैनात फौज को यमनो के बीच से हटा ली है साथ ही साथ वहा पर मिसाइल  रक्षा प्रणाली को भी हटा लिया है                                                                                                                                                                                                      ये ऐसे वक्त हो रहा है ,जब देश यमनो  के हवाई हमलो का सामना कर रहा है |                                              ये सब द एसोसीएटेड प्रेस के द्वारा उपग्रह की तस्वीरों से पता चला है |                                                                                                                                                                                    रियाद से बाहर प्रिंस सुल्तान एयर बेस से सुरक्षा को वहा से हटाने का कार्यक्रम ऐसे वक्त हुआ | जब अमेरिका के खाड़ी सहयोगियों ने अफगानिस्तान और अमेरिका की सेना की अफरा तफरी में बापसी देखी थी | इसी बीच अमेरिका ने अफगान सहयोगियों के रहन सहन पर चिंता जताये जाने के बाद सहयोगियों के केम्पो को पूरी दुनिया को बतया है |                                                                                                                                                             वैसे बात अमेरिका की करे तो ये भी किसी देश से कम नहीं  है अपने स्वार्थ के मामले में ,अफगानिस्तान से आ रहे सहयोगियों को लेकर अमेरिका ने कहा की वह अपने शरणार्थियो को उनके हाल पर छोड़ नहीं सकता |                                                                                                                                 सऊदी अरब मार्च 2015  से ही लगातार हुती विद्रोहियों के खिलाफ जंग छेडा हुआ है |

अरब प्रायदीप में अमेरिका के हजारो सैनिक तैनात है  ईरान का मुकाबला करने के लिए | लेकिन अमेरिका को भविष्य की चिंता सत्ता रही है क्योकिं अमेरिका की सेना एशिया की बढ़ती सैन्य शक्ति से डरती है और फिर उसके लिए अमेरिका को मिसाइल रक्षा प्रणाली की भी जरुरत है | अमेरिका ईरान के परमाणु समझौते को भी खत्म करना चाहता है | इसी बात को लेकर वियना में हो रही बातचीत भी अब रुक गई है | जिसके कारण अब देशो में आपस में लड़ने के खतरे और भी बढ़ गए है | आप लोगो को तो पता ही होगा की किस प्रकार तालिबान ने अफगानिस्तान में मातम मचा दिया था | लेकिन अब अमेरिका ने भी  ऐसा करके अफगानिस्तान की मुसीबतो को और भी बढ़ा दिया है |

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here