चीन की बड़ी साजिश का हुआ खुलास | पूरी दुनिया है खतरे में | Today News

0
150
xi pinping

चीन की बड़ी साजिश का हुआ खुलास | पूरी दुनिया है खतरे में | Today News :-

चीन की साजिश का सबसे बड़ा खुलासा किया चीन की डॉ.यान. साइंटिस्ट ने :-
कोरोना वायरस जो 2019 से चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ । जो पूरी दुनिया के लिए एक बहुत बड़ी चुनौती बन चुकी है ।चीन की डॉ. यान.साइंटिस्ट ने खोली पोल :-

डॉ. यान. साइंटिस्ट ने मीडिया पर किया बड़ा बयान ओर बताया कि चीन बहुत बड़ी साजिश कर रहा है कोरोना वायरस को लेकर । कोरोना वायरस को जैविक हथियार के रूप में इस्तमाल कर रहा है जिसका इरादा पूरे विश्व का विनाश करने का है । जब चीन से WHO ने कोरोना वायरस के बारे में पूछा तो उसने वायरस के बारे में एक बीमारी का नाम बताया और पूरे विश्व को पागल बनाता रहा । डॉ. यान.ने कहा कि चीन ने कोरोना वायरस की वैक्सीन पहले ही तैयार कर रखी थी अगर चीन चाहता तो वह सभी देशों को वैक्सीन के बारे में बता सकता था लेकिन अभी तक चीन ने वैक्सीन के बारे में कुछ भी नहीं बताया है । डॉ. यान.ने यह बात को सोशल मीडिया पर आकर बताई और कहा चीन third world war पर उतर आया है । जिसका मकसद अन्य देशों को बर्बाद करने का हैं उनकी अर्थव्यवस्था को खराब करना चाहता है । अमेरिका जैसा powerful देश भी अपने गुटनो पर आ गया हैं । अमेरिका में अब तक सबसे ज्यादा कोरोना वायरस से मौत हो चुकी है और अभी तक इसकी को वैक्सीन नही बनी है

चीन का जैविक हथियार है कोरोना वायरस :-

चीन ने जैविक हथियार का प्रयोग कर के पूरी दुनिया को बर्बाद करने पर तुला हुआ है । महाशक्ति अमेरिका ने भी अपने घुटने टेक दिए हैं और वह अपनी अर्थव्यवस्था को भी खो चुका है अमेरिका में अब तक 3.34 करोड़ कोरोना वायरस से मौत हो चुकी है । ब्रिटेन में भी अब तक 1.24 करोड़ मौत हो चुकी है ।और भारत में भी कोरोना वायरस से 2.26 लाख मौत हो चुकी है जिससे भारत में बहुत बड़ा प्रभाव पड़ा है ।
चीन अपने जैविक हथियार से third world war कर रहा है
चीन के वैज्ञानिकों ने कोविड-19 महामारी से पांच साल पहले कथित तौर पर कोरोना वायरस को हथियार के तौर पर इस्तेमाल करने के बारे में जांच की थी और उन्होंने तीसरा विश्व युद्ध जैविक हथियार से लड़ने का पूर्वानुमान लगाया था. अमेरिकी विदेश विभाग को प्राप्त हुए दस्तावेजों के हवाले से मीडिया रपटों में यह दावा किया गया है.कोरोना वायरस पर चीन के दावों को स्वीकार करने को कोई तैयार नहीं है. हर ओर एक सवाल है कि जिस चीन में कोरोना वायरस पैदा हुआ है वो देश इसके असर से इतना सुरक्षित कैसे रहा? कैसे चीन में 6 से 8 महीने में जिंदगी पटरी पर आ गई, जबकि भारत समेत दुनिया के कई देश 2 साल से इस बीमारी से संघर्ष कर रहे हैं.

अब एक नई रिपोर्ट के खुलासे से कोरोना वायरस को लेकर चीन के इरादों पर शक और भी गहरा जाता है.

ये रिपोर्ट 2015 के घटनाक्रम से जुड़ी है, जब दुनिया में कोरोना वायरस के घातक प्रभाव से लोग अनजान थे, लेकिन चीन उसी समय कोरोना वायरस को हथियार के तौर पर इस्तेमाल करने के बारे में जांच कर रहा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here